Notes

मरूद्भिद …

मरूद्भिद पौधा –
(1) मरूद्भिद पौधोंं की बाहरी त्वचा पूर्ण विकसित, मोटी भित्ति युक्त कोशिकाओं द्वारा निर्मित तथा मोटे उपत्वचा स्तर युक्त होती है। कनेर में बहुस्तरीय बाहरी त्वचा होती है।
(2) मरूद्भिद पौधों के तनों की बाहरी त्वचा के नीचे दृढ़ोतक की बनी बहुस्तरीय अधस्त्वचा स्थित होती है।
(3) मरूद्भिद पौधों में रन्ध्र संख्या में कम तथा गहरे गड्ढ़ों में उपस्थित होते हैं।
(4) मरूद्भिद पौधों में यान्त्रिक ऊतक पूर्ण रूप से विकसित होते हैं।
(5) मरूद्भिद पौधों की पत्तियों में पर्ण मध्योतक खम्भ व स्पंजी मृदूतक में भिन्नित होती है।