विभाग

‘नियोजन एवं विकास विभाग’ का कार्यकारी सदस्य आर्देशिर दलाल को नियुक्त किया गया था।

26 दिसम्बर, 2020 को किस विभाग ने ‘झटपट प्रोसेसिंग’ नामक पहल शुरू किया है?

एक विभाग का सबसे लम्बी अवधि तक नेतृत्व करने वाली महिला केन्द्रीय मंत्री राजकुमारी अमृत कौर थीं।

किसी एक विभाग का सबसे लम्बी अवधि तक नेतृत्व करने वाली महिला केन्द्रीय मंत्री कौन थीं?

दिल्ली सल्तनतकालीन में गुप्तचर विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में गुप्तचर विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी बरीद-ए-मुमालिक होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में धर्म विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन सद्र-उस-सुदूर होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में धर्म विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में न्याय विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी काजी-उल-कजात होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में न्याय विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में राजस्व विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में राजस्व विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी वजीर होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में विदेश विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में विदेश विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी दीवान-ए-रसालत होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में शाही पत्र-व्यवहार विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन में शाही पत्र-व्यवहार विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी दबीर-ए-खास (अमीर मुंशी) होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में सेना विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी आरिज-ए-मुमालिक होता था।

दिल्ली सल्तनतकालीन में सेना विभाग का कार्य करने वाला प्रमुख अधिकारी कौन होता था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-अमीर-कोही का कृषि विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-अमीर-कोही का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-अर्ज का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-अर्ज का सैन्य विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-इंशा का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-इंशा का पत्राचार विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-इश्तिहाक का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-इश्तिहाक का पेंशन विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-खैरात का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-खैरात का दान विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-बंदगान का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-बंदगान का दासों के विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-मुस्तखराज का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-मुस्तखराज का राजस्व विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-रसालत का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-रसालत का विदेश विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-रियासत का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-रियासत का बाजार पर नियंत्रण रखने वाला विभाग था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-वकूफ का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-वकूफ का व्यय विभाग का कार्य था।

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-वजारत का क्या कार्य था?

दिल्ली सल्तनतकालीन विभाग दीवान-ए-वजारत का वित्त विभाग का कार्य था।

फिरोजशाह तुगलक ने अनाथ स्त्रियों, विधवाओं एवं लड़कियों की सहायता के लिये ‘दीवान-ए-खैरात’ नामक विभाग का गठन किया था।

फिरोजशाह तुगलक ने अनाथ स्त्रियों, विधवाओं एवं लड़कियों की सहायता के लिये किस विभाग का गठन किया था?

बलबन ने केन्द्रीय सैन्य विभाग की स्थापना की जिसे ‘दीवान-ए-अर्ज’ कहा जाता है।

बलबन ने केन्द्रीय सैन्य विभाग की स्थापना की जिसे क्या कहा जाता है?

बाबर के शासनकाल में शिक्षा केन्द्रों की व्यवस्था कौन सा विभाग करता था?

भारत सरकार ने पृथक ‘नियोजन एवं विकास विभाग’ 1944 ई0 में खोला था।

मुगल काल में दान देने के विभाग का प्रधान कौन होता था?

मुगल काल में न्याय विभाग का प्रधान कौन होता था?

मुगल काल में सेना तथा वेतन विभाग का प्रधान कौन होता था?

रिजर्व बैंक के नोट निर्गमन विभाग के पास हर समय कम-से-कम 115 करोड़ का स्वर्णकोष रहना चाहिए।

Subjects

Tags