अभिलेख

‘भारतवर्ष’ शब्द का उल्लेख किस अभिलेख में मिलता है?

‘भारतवर्ष’ शब्द का उल्लेख हाथी गुम्फा अभिलेख में मिलता है।

अभिलेखों में देवराय द्वितीय को क्या कहा गया है?

अभिलेखों में देवराय द्वितीय को गजबेटकर कहा गया है।

अलेक्जैंडर कनिंघम किस अभिलेख को कलकत्ता लाया था?

अशोक का उल्लेख कौन-कौन से अभिलेखों में है?

अशोक की कर नीति की जानकारी किस अभिलेख से मिलती है?

अशोक की कर नीति की जानकारी रूम्मिनदेई अभिलेख से मिलती है।

अशोक के अधिकांश अभिलेख ब्राह्मी लिपि में लिखे गये हैं।

अशोक के अधिकांश अभिलेख ब्राह्मी लिपि में हैं।

इतिहास के साक्षर अभिलेखों से पूर्व के इतिहास को ‘आद्य इतिहास’ कहा जाता है।

इतिहास के साक्षर अभिलेखों से पूर्व के इतिहास को क्या कहा जाता है?

उच्च न्यायालय के अभिलेखों को न्यायालय के रुप में अनुच्छेद 215 के अन्तर्गत स्वीकार किया गया है।

एलेग्जेंडर कनिंघम बैराट के अभिलेख को कलकत्ता लाया था।

ऐहोल अभिलेख पुलकेशिन-II से सम्बन्धित है।

कहौम अभिलेख से विदित होता है कि स्कन्दगुप्त की उपाधि शक्रादित्य थी।

किस अभिलेख में पुलकेशिन प्रथम से पूर्व दो शासकों जयसिंह तथा रणराम के नाम मिलते है?

किस अभिलेख से विदित होता है कि स्कन्दगुप्त की उपाधि शक्रादित्य थी?

कुमारगुप्त प्रथम के शासन का वर्णन किस अभिलेख से प्राप्त होता है?

कुमारगुप्त प्रथम के शासन का वर्णन मंदसौर अभिलेख से प्राप्त होता है।

कुमारगुप्त प्रथम को ‘शरदकालीन सूर्य’ किस अभिलेख में कहा गया है?

कुमारगुप्त प्रथम को ‘शरदकालीन सूर्य’ तुमुन अभिलेख में कहा गया है।

कुर्रम अभिलेख के अनुसार पुलकेशिन द्वितीय को नरसिंह वर्मन प्रथम ने तीन युद्धों में पराजित किया था।

कौशाम्बी से लाये गये इलाहाबाद स्तम्भ पर समुद्रगुप्त एवं जहाँगीर के अभिलेख हैं।

गुप्त शासक कुमारगुप्त का सम्बन्ध किस अभिलेख से है?

गुप्त शासक कुमारगुप्त का सम्बन्ध विलसड स्तम्भ अभिलेख से है।

गुप्त शासक समुद्रगुप्त का सम्बन्ध किस अभिलेख से है?

गुप्त शासक समुद्रगुप्त का सम्बन्ध प्रयाग प्रशस्ति अभिलेख से है।

गुप्तकाल में प्रथम सती होने का प्रमाण एरण अभिलेख से मिलता है।

गुप्तकाल में प्रथम सती होने का प्रमाण किस अभिलेख से मिलता है?

गुप्तकाल में रेशम बुनकरों की श्रेणी द्वारा विशाल सूर्यमन्दिर के निर्माण का उल्लेख किस अभिलेख में मिलता है?

गुप्तकाल में रेशम बुनकरों की श्रेणी द्वारा विशाल सूर्यमन्दिर के निर्माण का उल्लेख मंदसौर अभिलेख में मिलता है।

गुप्तकाल में सबसे अधिक अभिलेख कुमारगुप्त प्रथम के मिले हैं।

गोन्डोफर्निस के शासनकाल का एक अभिलेख तख्तेबही पेशावर से प्राप्त हुआ है।

ग्वालियर अभिलेख प्रतिहार नरेश भोज से सम्बन्धित है।

चन्द्रगुप्त मौर्य की संज्ञा का प्राचीनतम अभिलेखीय साक्ष्य रुद्रदामन के जूनागढ़ अभिलेख से मिलता है।

जूनागढ़ (गिरनार) अभिलेख रुद्रदामन से सम्बन्धित है।

जूनागढ़ अभिलेख में हूणों को म्लेच्छ कहा गया है।

दुर्भिक्ष (अकाल) के अवसर पर राज्य द्वारा कोष्ठागार से अनाज वितरण का विवरण किन-किन अभिलेखों में मिलता है?

दुर्भिक्ष (अकाल) के अवसर पर राज्य द्वारा कोष्ठागार से अनाज वितरण का विवरण सोहगौरा तथा महास्थान अभिलेखों में मिलता है।

दुर्भिक्ष शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख किस अभिलेख में मिलता है?

दुर्भिक्ष शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख सौहगौरा अभिलेख में मिलता है।

देवपाड़ा अभिलेख बंगाल शासक से सम्बन्धित है।

नासिक अभिलेख गौतमी बलश्री से सम्बन्धित है।

पश्चिमोत्तर प्रान्त से प्राप्त अशोक के अभिलेख खरोष्ठी लिपि में हैं।

प्रयाग स्तम्भ लेख समुद्रगुप्त से सम्बन्धित है।

बैराट के अभिलेख को अलेक्जैंडर कनिंघम कलकत्ता लाया था।

भितरी एवं जूनागढ़ अभिलेख स्कन्दगुप्त से सम्बन्धित है।

मन्दसौर अभिलेख मालवा नरेश यशोवर्मन से सम्बन्धित है।

महाकूद अभिलेख में पुलकेशिन प्रथम से पूर्व दो शासकों जयसिंह तथा रणराम के नाम मिलते है।

Subjects

Tags