टंगस्टन

टंगस्टन (W) का गलनांक सबसे अधिक होता हैं।

टंगस्टन एक प्रकार का लौह धात्विक खनिज है।

टंगस्टन का आविष्कार 1781 ईसवी में हुआ था।

टंगस्टन का आविष्कार कब हुआ था?

टंगस्टन का कार्य फलन 4.5 eV होता है।

टंगस्टन का कार्य फलन कितना होता है?

टंगस्टन का प्रचालन ताप 2500 K होता है।

टंगस्टन का प्रचालन ताप कितना होता है?

टंगस्टन किस खनिज का उदाहरण है?

टंगस्टन किस प्रकार का धात्विक खनिज है?

टंगस्टन की खोज कब हुई थी?

टंगस्टन की खोज सन् 1781 में हुई थी।

टंगस्टन के भंडारण में एशिया महाद्वीप में प्रथम स्थान किस देश का है?

टंगस्टन को कब पहली बार धातु के रूप में पृथक् किया गया था?

टंगस्टन को सन् 1783 में पहली बार धातु के रूप में पृथक् किया था।

टंगस्टन क्या है?

टंगस्टन धात्विक खनिज (Metallic Minerals) का उदाहरण है।

थोरियत टंगस्टन का प्रचालन ताप 19000 K होता है।

वर्तमान में भारत का एक मात्र ‘टंगस्टन उत्खनन केन्द्र’ डेगाना में है।

सर्वाधिक उपयोग आने वाले तापायनिक उत्सर्जक 3 प्रकार के होते है।

Subjects

Tags