पूर्ण तरंग दिष्टकारी

कार्य के अनुसार दिष्टकारी 2 प्रकार का होता है।

दिष्टकारी 2 प्रकार का होता है।

दिष्टकारी 2 प्रकार की होती है।

पूर्ण तरंग दिष्टकारी एक दिष्टकारी है जो प्रत्यावर्ती धारा के दोनों अर्द्धचक्रों को एकदिशीय धारा अर्थात् दिष्ट धारा में परिवर्तित कर देता है।

पूर्ण तरंग दिष्टकारी क्या है?

पूर्ण तरंग दिष्टकारी में उर्मिका गुणांक का मान 0.482 होता है।

पूर्ण तरंग दिष्टकारी में उर्मिका गुणांक का मान कितना होता है?

Subjects

Tags