‘अनिरूद्ध’ ...

'अनिरूद्ध' महात्मा बुद्ध के पाँच प्रिय शिष्यों में से एक थे।

Read More...

‘अनुमाकोंडा...

'अनुमाकोंडा' के हजार स्तम्भों वाले मन्दिर का निर्माण काकतीय शासक रूद्रदेव ने करवाया था।

Read More...

‘अनुमाकोंडा...

Read More...

‘अशोक’ 269 ईसा...

'अशोक' 269 ईसा पूर्व मे शासक बना था।

Read More...

‘अशोक’ को बौ...

'अशोक' को बौद्ध धर्म में उपगुप्त ने दीक्षित किया था।

Read More...

‘अशोक’ को बौ...

Read More...

‘अशोक’ शासक ...

Read More...

‘अष्टाध्यायी...

Read More...

‘अष्टाध्यायी...

'अष्टाध्यायी पुस्तक' के लेखक पाणिनि है।

Read More...

‘आवूर किलाल̵...

'आवूर किलाल' के अनुसार हाथी के लेटने में जितनी जमीन घिरती, उतनी जमीन में सात लोगों के खाने के लिए अनाज पैदा होता था।

Read More...

‘इतिहास का पि...

Read More...

‘इतिहास का पि...

'इतिहास का पिता' हेरोडोटस को कहा जाता है।

Read More...

‘ओरूगाल्लु’...

'ओरूगाल्लु' (आधुनिक वारंगल) नामक नया शहर काकतीय शासक रूद्रदेव ने बसाया था।

Read More...

‘कंग्युर’ त...

Read More...

‘कंग्युर’ त...

'कंग्युर' तथा 'तंग्युर' नामक ग्रंथ की रचना तारानाथ ने की थी।

Read More...

‘कालिदास’ च...

'कालिदास' चन्द्रगुप्त द्वितीय के नौ रत्नों में से एक थे।

Read More...

‘काव्यमीमांस...

Read More...

‘काव्यमीमांस...

'काव्यमीमांसा' एवं 'कर्पूरमंजरी' राजशेखर की प्रसिद्ध कृति है।

Read More...

‘कुणाल’ 232 ईस...

'कुणाल' 232 ईसा पूर्व मे शासक बना था।

Read More...

‘केदारेश्वर...

'केदारेश्वर' मन्दिर का निर्माण भोज परमार ने कराया था।

Read More...

‘गैरिक मृद्भ...

Read More...

‘गैरिक मृद्भ...

'गैरिक मृद्भाण्ड' ताम्रपाषाण काल से प्राप्त हुआ था।

Read More...

‘गोत्र’ नाम...

'गोत्र' नामक संस्था का जन्म उत्तरवैदिक काल में हुआ था।

Read More...

‘गोत्र’ नाम...

Read More...

‘चचनामा पुस्...

'चचनामा पुस्तक' के लेखक अली अहमद है।

Read More...

‘चचनामा पुस्...

Read More...

‘चन्द्रगुप्त...

'चन्द्रगुप्त मौर्य' ने मौर्य वंश की स्थापना 323 ईसा पूर्व मे की थी।

Read More...

‘चन्द्रगुप्त...

Read More...

‘जिसने मोक्ष ...

Read More...

‘जिसने मोक्ष ...

'जिसने मोक्ष प्राप्त किया हो' जैन सिद्धों की तीर्थंकर श्रेणी में आता है।

Read More...

‘जेन्दा अवेस...

Read More...

‘जेन्दा अवेस...

'जेन्दा अवेस्ता' नामक ग्रंथ का मूल शिक्षा का सूत्र सद्-विचार, सद्-वचन तथा सद्-कार्य है।

Read More...

‘जैन भिक्षु स...

'जैन भिक्षु समूह के प्रमुख को' जैन सिद्धों की आचार्य श्रेणी में रखा गया है।

Read More...

‘जैन भिक्षु स...

Read More...

‘जैन शिक्षक̵...

'जैन शिक्षक' को जैन सिद्धों की उपाध्याय श्रेणी में रखा गया है।

Read More...

‘जैन शिक्षक̵...

Read More...

‘जो निर्वाण प...

'जो निर्वाण प्राप्ति की ओर अग्रसर हो' जैन सिद्धों की अर्हत श्रेणी में आता है।

Read More...

‘जो निर्वाण प...

Read More...

‘टेसियस’ ईर...

'टेसियस' ईरान का राजवैद्य था।

Read More...

‘टेसियस’ कौ...

Read More...

‘दशकुमार चरि...

Read More...

‘दशकुमार चरि...

'दशकुमार चरित' तथा 'काव्यादर्श' के लेखक दण्डी थे।

Read More...

‘दानसागर’ ए...

Read More...

‘दानसागर’ ए...

'दानसागर' एवं 'अद्भुत सागर' नामक ग्रंथ बल्लाल सेन ने लिखा था।

Read More...

‘दानसागर’ ग...

'दानसागर' ग्रंथ के लेखक बल्लाल सेन थे।

Read More...

‘नवसहसांक के ...

Read More...

‘नवसहसांक के ...

'नवसहसांक के चरित' के लेखक का नाम पद्मगुप्त परिमल था।

Read More...

‘नीतिशास्त्र...

Read More...

‘नीतिशास्त्र...

'नीतिशास्त्र मुक्तावली' बाद्देना ने लिखी थी।

Read More...

‘नीरवचनोत्तर...

Read More...

‘नीरवचनोत्तर...

'नीरवचनोत्तर रामायण' तिक्काना ने लिखी थी।

Read More...

‘पिंगलवत्स’...

'पिंगलवत्स' नामक आजीवक विद्वान बिन्दुसार के दरबार में रहता था।

Read More...

‘पुराण’ का श...

Read More...

‘पुराण’ का श...

'पुराण' का शाब्दिक अर्थ प्राचीन या पुराना होता है।

Read More...

‘बिन्दुसार’...

'बिन्दुसार' 298 ईसा पूर्व मे शासक बना था।

Read More...

‘बिन्दुसार’...

Read More...

‘बिल्हण’ और ...

'बिल्हण' और 'मिताक्षरा' के लेखक विज्ञानेश्वर कल्याणी चालुक्य विक्रमादित्य षष्ठ के दरबार में रहते थे।

Read More...

‘बिल्हण’ और ...

Read More...

‘भारतवर्ष’ ...

Read More...

‘भारतवर्ष’ ...

'भारतवर्ष' शब्द का उल्लेख हाथी गुम्फा अभिलेख में मिलता है।

Read More...

‘महाभारत’ क...

Read More...

‘महाभारत’ क...

'महाभारत' का पुराना नाम जयसंहिता है।

Read More...

‘महावस्तु ग्...

'महावस्तु ग्रंथ' में महात्मा बुद्ध के जीवन का उल्लेख मिलता है।

Read More...

‘मुक्तिकोपनि...

'मुक्तिकोपनिषद्' में 108 उपनिषदों का उल्लेख मिलता है।

Read More...

‘मुक्तिकोपनि...

Read More...

‘मुन्डि चोल म...

Read More...

‘मुन्डि चोल म...

'मुन्डि चोल मण्डलम' उत्तरी श्रीलंका में चोल शासक राजराज प्रथम ने यह प्रांत बनाया था।

Read More...

‘यशोरूपावलोक...

Read More...

‘यशोरूपावलोक...

'यशोरूपावलोक' के रचयिता धनिक विद्यमान थे।

Read More...

‘वितस्ता का य...

Read More...

‘वितस्ता का य...

'वितस्ता का युद्ध' या 'हाइडेस्पीन का युद्ध' झेलम नदी के तट पर लड़ा गया था।

Read More...

‘शिलप्पादिका...

'शिलप्पादिकारम्' तमिल साहित्य का महाकाव्य है।

Read More...

‘सत्यमेव जयत...

Read More...

‘सत्यमेव जयत...

'सत्यमेव जयते' वाक्य मुण्डकोपनिषद् से उद्धृत है।

Read More...

‘समारांग सूत...

Read More...

‘समारांग सूत...

'समारांग सूत्राधार', 'सरस्वती कण्ठाभरण', 'सिद्धान्त संग्रह' एवं 'आयुर्वेद सर्वस्व' भोज परमार की रचनायें हैं।

Read More...

‘सिकन्दर’ क...

'सिकन्दर' की मृत्यु 323 ईसा पूर्व मे हुई थी।

Read More...

‘सिकन्दर’ क...

Read More...

‘सिद्धान्त श...

Read More...

‘सिद्धान्त श...

'सिद्धान्त शिरोमणि' तथा 'करणकौतुहल' के रचनाकार भास्कराचार्य है।

Read More...

‘हिस्टोरिका ...

Read More...

‘हिस्टोरिका ...

'हिस्टोरिका पुस्तक' के लेखक हेरोडोटस है।

Read More...

10 स्तम्भों पर अ...

10 स्तम्भों पर अंकित स्तम्भ लेखों की कुल संख्या 13 है।

Read More...

10 स्तम्भों पर अ...

Read More...

1310 ई० और 1311 ई० में...

Read More...

1310 ई० और 1311 ई० में...

1310 ई० और 1311 ई० में अलाउद्दीन खिलजी के सेनापति मलिक काफूर ने होयसल वंश के शासक बल्लाल तृतीय को पराजित किया था।

Read More...

अकबर किस स्तम्...

Read More...

अकबर कौशाम्बी ...

अकबर कौशाम्बी स्तम्भ को इलाहाबाद (प्रयागराज) लेकर आया था।

Read More...

अग्निकुल के रा...

Read More...

अग्निकुल के रा...

अग्निकुल के राजपूतों में सर्वाधिक प्रसिद्ध राजवंश प्रतिहार राजवंश था।

Read More...

अजंता एवं एलोर...

Read More...

अजंता एवं एलोर...

अजंता एवं एलोरा की गुफाओं का निर्माण सातवाहनों ने कराया था।

Read More...

अजन्ता की गुफा...

Read More...

अजन्ता की गुफा...

अजन्ता की गुफाएं गुप्तकाल की हैं।

Read More...

अजातशत्रु का व...

Read More...

अजातशत्रु का व...

अजातशत्रु का विवाह वाजिरा के साथ हुआ था।

Read More...

अजातशत्रु का स...

Read More...

अजातशत्रु का स...

अजातशत्रु का सुयोग्य मंत्री वस्सकार था।

Read More...

अजातशत्रु की प...

Read More...

अजातशत्रु की प...

अजातशत्रु की पत्नी वाजिरा कोशल नरेश प्रसेनजित की पुत्री थी।

Read More...

अजातशत्रु की ह...

अजातशत्रु की हत्या उसके पुत्र उदायिन ने 461 ईसा पूर्व में की थी।

Read More...

अजातशत्रु की ह...

Read More...

अजातशत्रु की ह...

अजातशत्रु की हत्या उसके पुत्र उदायिन ने की थी।

Read More...

अजातशत्रु की ह...

Read More...

अजातशत्रु के प...

Read More...

अजातशत्रु के प...

अजातशत्रु के पुत्र का नाम उदायिन था।

Read More...

अजातशत्रु ने क...

Read More...

अजातशत्रु ने ग...

अजातशत्रु ने गौतम बुद्ध के चचेरे भाई देवदत्त के कहने पर अपने पिता बिम्बिसार की हत्या की थी।

Read More...

अजातशत्रु ने र...

Read More...

अजातशत्रु ने र...

अजातशत्रु ने राजगृह में विशाल स्तूप का निर्माण करवाया था।

Read More...

अजातशत्रु ने ल...

Read More...

अजातशत्रु ने ल...

अजातशत्रु ने लिच्छवियों के विरूद्ध युद्ध में महाशिलाकन्टक तथा रथमूसल शस्त्रों का प्रथम बार प्रयोग किया था।

Read More...

अजातशत्रु पहले...

Read More...

अजातशत्रु पहले...

अजातशत्रु पहले जैन धर्म से प्रभावित था।

Read More...

अजातशत्रु बाद ...

Read More...

अजातशत्रु बाद ...

अजातशत्रु बाद में बौद्ध धर्म को मानने लगा था।

Read More...

अजातशत्रु मगध ...

अजातशत्रु मगध की गद्दी पर 492 ईसा पूर्व बैठा था।

Read More...

अजातशत्रु मगध ...

Read More...

अण्डमान-निकोबा...

Read More...

अण्डमान-निकोबा...

अण्डमान-निकोबार, अराकान तथा पेगू को चोल शासक राजेन्द्र प्रथम ने विजित किया था।

Read More...

अंतिम तीर्थंकर...

Read More...

अंतिम तीर्थंकर...

अंतिम तीर्थंकर महावीर स्वामी के अनुयायी निर्ग्रन्थ कहलाते थे।

Read More...

अत्रि किस मंडल ...

Read More...

अत्रि पंचम मंड...

अत्रि पंचम मंडल के ऋषि थे।

Read More...

अथर्ववेद का उप...

Read More...

अथर्ववेद का उप...

अथर्ववेद का उपवेद शिल्पवेद है।

Read More...

अथर्ववेद की दो ...

Read More...

अथर्ववेद की दो ...

अथर्ववेद की दो शाखाएं पिप्पलाद एवं शौनक हैं।

Read More...

अथर्ववेद की रच...

अथर्ववेद की रचना अथर्वा ऋषि ने की थी।

Read More...

अथर्ववेद की रच...

Read More...

अथर्ववेद की सं...

अथर्ववेद की संहिता में कुल 20 कांड हैं।

Read More...

अथर्ववेद की सं...

अथर्ववेद की संहिता में कुल 5987 मंत्रों का संग्रह है।

Read More...

अथर्ववेद की सं...

अथर्ववेद की संहिता में कुल 731 सूक्त हैं।

Read More...

अथर्ववेद की सं...

Read More...

अथर्ववेद की सं...

Read More...

अथर्ववेद की सं...

Read More...

अथर्ववेद में क...

Read More...

अथर्ववेद में ज...

अथर्ववेद में जादू-टोना तथा तंत्र-मंत्र का उल्लेख है।

Read More...

अथर्ववेद में म...

अथर्ववेद में मगध में निवास करने वाले लोगों को 'व्रात्य' कहा गया है।

Read More...

अथर्ववेद में म...

Read More...

अथर्ववेद में ल...

अथर्ववेद में लगभग 1200 मंत्र ऋग्वेद से उद्धृत हैं।

Read More...

अथर्ववेद में व...

अथर्ववेद में वेदत्रयी नहीं आता है।

Read More...

अथर्ववेद वेदत्...

अथर्ववेद वेदत्रयी के अन्तर्गत नहीं आता है।

Read More...

अथर्ववेद सभा ए...

अथर्ववेद सभा एवं समिति को प्रजापति की दो पुत्रियां कहा गया है।

Read More...

अद्भुत सागर’ ...

अद्भुत सागर' ग्रंथ के लेखक बल्लाल सेन थे।

Read More...

अद्वैत सम्प्रद...

Read More...

अद्वैत सम्प्रद...

अद्वैत सम्प्रदाय के संस्थापक शंकराचार्य एवं बादरायण थे।

Read More...

अधिकतर पुराण क...

Read More...

अधिकतर पुराण स...

अधिकतर पुराण सरल संस्कृत श्लोक में लिखे गये है।

Read More...

अनिश्चयवादी सम...

Read More...

अनिश्चयवादी सम...

अनिश्चयवादी सम्प्रदाय के संस्थापक संजय वेट्ठलिपुत्र थे।

Read More...

अन्तिम मौर्य श...

अन्तिम मौर्य शासक 'वृहद्रथ' था।

Read More...

अन्तिम मौर्य श...

Read More...

अन्तिम मौर्य श...

अन्तिम मौर्य शासक वृहद्रथ की हत्या 185 ईसा पूर्व हुई थी।

Read More...

अन्तिम मौर्य श...

Read More...

अपने राज्य की स...

Read More...

अपने राज्य की स...

अपने राज्य की समस्त भूमि की माप चोल शासक राजराज प्रथम ने करवाई थी।

Read More...

अभिधम्मपिटक की...

Read More...

अभिधम्मपिटक की...

अभिधम्मपिटक की रचना कुषाण काल में की गई थी।

Read More...

अभिधम्मपिटक मे...

Read More...

अभिधम्मपिटक मे...

अभिधम्मपिटक में सात ग्रंथ सम्मिलित हैं।

Read More...

अभिलेख उत्कीर्...

अभिलेख उत्कीर्ण करने की प्रथा ईरानियों द्वारा प्रारम्भ की गयी थी।

Read More...

अभिलेख उत्कीर्...

Read More...

अभिलेखों का अध...

अभिलेखों का अध्ययन 'इपीग्राफी' कहलाता है।

Read More...

अभिलेखों का अध...

Read More...

अभिलेखों के अध...

अभिलेखों के अध्ययन को इपीग्राफी कहते हैं।

Read More...

अभिलेखों के अध...

Read More...

अभिलेखों में अ...

Read More...

अभिलेखों में अ...

अभिलेखों में अशोक को देवानामप्रिय या देवानामप्रियदर्शी के नाम से सम्बोधित किया गया है।

Read More...

अमर सिंह’ चन्...

अमर सिंह' चन्द्रगुप्त द्वितीय के नौ रत्नों में से एक थे।

Read More...

अमरावती एवं ना...

Read More...

अमरावती एवं ना...

अमरावती एवं नागार्जुनकोंडा के स्तूपों का निर्माण सातवाहनों ने कराया था।

Read More...

अमृतसागर तथा ब...

Read More...

अमृतसागर तथा ब...

अमृतसागर तथा बुद्धिमित्र जैसे जैन एवं बौद्ध भिक्षुओं को चोल शासकों ने संरक्षण दिया था।

Read More...

अमोघवर्ष 814 ईसव...

अमोघवर्ष 814 ईसवी में राष्ट्रकूट वंश का शासक बना था।

Read More...

अमोघवर्ष किस ध...

Read More...

अमोघवर्ष के पि...

Read More...

अमोघवर्ष के पि...

अमोघवर्ष के पिता का नाम गोविन्द तृतीय था।

Read More...

अमोघवर्ष जैन ध...

अमोघवर्ष जैन धर्म का अनुयायी था।

Read More...

अमोघवर्ष राष्ट...

Read More...

अर‍ब आक्रमण प्...

अर‍ब आक्रमण प्रथम बार सिन्ध पर 636 ईसवी में हुआ था।

Read More...

अर‍ब आक्रमण प्...

Read More...

अरब यात्री सुल...

अरब यात्री सुलेमान ने भारत वृतान्त 851 ईसवी में लिखा था।

Read More...

अरब यात्री सुल...

Read More...

अरब यात्री सुल...

Read More...

अरब यात्री सुल...

अरब यात्री सुलेमान प्रतिहार वंश के शासक मिहिरभोज के काल में भारत आया था।

Read More...

अरबयात्री अल म...

अरबयात्री अल मसूदी का आगमन भारत में इंद्र तृतीय के दरबार में हुआ था।

Read More...

अरबयात्री अल म...

Read More...

अरबी भाषा में ल...

अरबी भाषा में लिखा गया वृतांत रिहृला इब्न बतूता के द्वारा लिखा गया है।

Read More...

अरबी भाषा में ल...

Read More...

अरबों की सिंध-व...

Read More...

अरबों की सिंध-व...

अरबों की सिंध-विजय का वृत्तांत चचनामा पुस्तक में सु‍रक्षित है।

Read More...

अरिकमेडु किस क...

Read More...

अरिकमेडु व्याप...

अरिकमेडु व्यापारिक केन्द्र के रूप में प्रसिद्ध था।

Read More...

अर्थशास्त्र 15 अ...

अर्थशास्त्र 15 अधिकरणों एवं 180 प्रकरणों में विभाजित है।

Read More...

अर्थशास्त्र का...

अर्थशास्त्र का जनक चाणक्य को कहा जाता है।

Read More...

अर्थशास्त्र कि...

Read More...

अर्थशास्त्र पु...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट खानों के अध्यक्ष को आकराध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट चारागाहों के अध्यक्ष को विविताध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट जहाजरानी विभाग के अध्यक्ष को नवाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट धातु विभाग के अध्यक्ष को लोहाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट धार्मिक संस्थाओं के अध्यक्ष को देवताध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट पशुधन विभाग के अध्यक्ष को सुवर्णाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट पासपोर्ट विभाग के अध्यक्ष को मुद्राध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट बन्दरगाहों के अध्यक्ष को पत्तनाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट बूचड़खानों के अध्यक्ष को सूनाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट मापतौल के अध्यक्ष को पौतवाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट मुद्रा तथा टकसाल के प्रमुख अध्यक्ष को लक्षणाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट राजकीय कृषि विभाग के अध्यक्ष को सीताध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट राजकीय धन जुर्माना आदि कार्याें के अध्यक्ष को शुल्काध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट रूई कातने, कपड़ा बुनने के उद्योगों का संचालन करने वाले अध्यक्ष को सूत्राध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट वाणिज्य व्यापार के अध्यक्ष को पण्याध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

Read More...

अर्थशास्त्र मे...

अर्थशास्त्र में निर्दिष्ट वेश्याओं के अध्यक्ष को गणिकाध्यक्ष कहा जाता था।

Read More...

अलबरूनी अरबी ल...

अलबरूनी अरबी लेखक था।

Read More...

अलबरूनी किसके ...

Read More...

अलबरूनी कौन था?...

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

अलबरूनी द्वारा लिखित पुस्तक राजपूत-कालीन समाज, धर्म, रीति-रिवाज, राजनीति आदि पर सुन्दर प्रकाश डाला गया है।

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

अलबरूनी द्वारा लिखी गई कृति का नाम 'किताब-उल-हिन्द या तहकीक-ए-हिन्द (भारत की खोज)' है।

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

अलबरूनी द्वारा लिखी पुस्तक 'किताब-उल-हिन्द' अरबी भाषा में लिखी गई है।

Read More...

अलबरूनी द्वारा...

Read More...

अलबरूनी महमूद ...

अलबरूनी महमूद गजनवी के साथ भारत आया था।

Read More...

अलवार संत कौन थ...

Read More...

अलवार संत विष्...

अलवार संत विष्णु के उपासक थे।

Read More...

अलाउद्दीन को व...

Read More...

अलाउद्दीन को व...

अलाउद्दीन को वार्षिक कर देना होयसल वंश के शासक बल्लाल तृतीय ने स्वीकार कर लिया था।

Read More...

अलार-कलाम कपिल ...

अलार-कलाम कपिल मुनी प्रणीत वैदिक 'सांख्य दर्शन' के विशेषज्ञ थे।

Read More...

अलार-कलाम किस द...

Read More...

अलेक्जैंडर कनि...

Read More...

अवतारवाद का सर...

Read More...

अवतारवाद का सर...

अवतारवाद का सर्वप्रथम उल्लेख हिन्दू धर्म के पवित्र पुस्तक भगवद्गीता में मिलता है।

Read More...

अवतारवाद के सि...

अवतारवाद के सिद्धांत को वैष्णव मत के अन्दर लोकप्रिय देवताओं को संयाेजित कर और लो‍कप्रिय बनाया गया था।

Read More...

अवनिसिंह तथा स...

Read More...

अवनिसिंह तथा स...

अवनिसिंह तथा सिंहविष्णुपोतरयण के नाम से पल्लव शासक सिंहविष्णु को जाना जाता था।

Read More...

अशोक का इलाहाब...

Read More...

अशोक का इलाहाब...

अशोक का इलाहाबाद (प्रयागराज) में स्थित स्तम्भ लेख का नाम प्रयाग है।

Read More...

अशोक का उल्लेख ...

Read More...

अशोक का उल्लेख ...

अशोक का उल्लेख मास्की, नेत्तूर, गुर्जरा एवं उदेगोलम अभिलेखों में है।

Read More...

अशोक का दिल्ली-...

Read More...

अशोक का दिल्ली-...

अशोक का दिल्ली-टोपरा स्तम्भ लेख दिल्ली में स्थित है।

Read More...

अशोक का दिल्ली-...

Read More...

अशोक का दिल्ली-...

अशोक का दिल्ली-मेरठ स्तम्भ लेख दिल्ली में स्थित है।

Read More...

अशोक का प्रधान...

Read More...

अशोक का प्रधान...

अशोक का प्रधानमंत्री राधागुप्त था।

Read More...

अशोक का रामपुर...

Read More...

अशोक का रामपुर...

अशोक का रामपुरवा स्तम्भ लेख चम्पारण (बिहार) में स्थित है।

Read More...

अशोक का लौरिया ...

Read More...

अशोक का लौरिया ...

अशोक का लौरिया अरेराज स्तम्भ लेख चम्पारण (बिहार) में स्थित है।

Read More...

अशोक का लौरिया ...

Read More...

अशोक का लौरिया ...

अशोक का लौरिया नन्दन गढ़ स्तम्भ लेख चम्पारण (बिहार) में स्थित है।

Read More...

अशोक का शासनका...

अशोक का शासनकाल 268-232 ईसा पूर्व तक था।

Read More...

अशोक का शासनका...

Read More...

अशोक का सबसे लं...

Read More...

अशोक का सबसे लं...

अशोक का सबसे लंबा स्तम्भ लेख भाब्रू अभिलेख है।

Read More...

अशोक की एक अन्य ...

Read More...

अशोक की एक अन्य ...

अशोक की एक अन्य पत्नी नागदेवी से उत्पन्न पुत्र-पुत्री का नाम महेन्द्र एवं संघमित्रा था।

Read More...

अशोक की कर नीति ...

Read More...

अशोक की कर नीति ...

अशोक की कर नीति की जानकारी रूम्मिनदेई अभिलेख से मिलती है।

Read More...

अशोक की धार्मि...

Read More...

अशोक की धार्मि...

अशोक की धार्मिक यात्राओं, धर्म के नियमों, अहिंसा की नीति के विषय के बारे में शिला लेख में लिखा है।

Read More...

अशोक की पत्निय...

अशोक की पत्नियों का नाम असंधिमित्रा एवं कारूवाकी था।

Read More...

अशोक की पत्निय...

Read More...

अशोक की माता का ...

Read More...

अशोक की माता का ...

अशोक की माता का नाम सुभद्रांगी था।

Read More...

अशोक की मृत्यु 2...

अशोक की मृत्यु 232 ईसा पूर्व मे हुई थी।

Read More...

अशोक की मृत्यु ...

Read More...

अशोक के अधिकां...

Read More...

अशोक के अधिकां...

Read More...

अशोक के अधिकां...

अशोक के अधिकांश अभिलेख ब्राह्मी लिपि में लिखे गये हैं।

Read More...

अशोक के अधिकां...

अशोक के अधिकांश अभिलेख ब्राह्मी लिपि में हैं।

Read More...

अशोक के अभिलेख...

Read More...

अशोक के अभिलेख...

अशोक के अभिलेखों को सर्वप्रथम जेम्स प्रिंसेप (1837 ईसवी) ने पढ़ा था।

Read More...

अशोक के खुदवाय...

Read More...

अशोक के खुदवाय...

अशोक के खुदवाये राज्यादेश उसके साम्राज्य के तीस भिन्न स्थानों पर मिले हैं।

Read More...

अशोक के तेरहवे...

अशोक के तेरहवें शिलालेख से 261 ईसा पूर्व के कलिंग विजय के बारे में ज्ञात होता है।

Read More...

अशोक के तेरहवे...

Read More...

अशोक के धम्म के ...

Read More...

अशोक के धम्म के ...

अशोक के धम्म के प्रमुख सिद्धान्त बड़ो का आदर, छोटों के प्रति उचित व्यवहार, सत्य भाषण, अहिंसा, दान, पवित्र जीवन, सत्य, शुभ कर्म एवं धार्मिक सहनशीलता आदि थे।

Read More...

अशोक के नाम का स...

Read More...

अशोक के नाम का स...

अशोक के नाम का स्पष्ट उल्लेख मास्की एवं गुर्जरा अभिलेखों से प्राप्त हुआ है।

Read More...

अशोक के पठनीय अ...

Read More...

अशोक के राजा बन...

Read More...

अशोक के राजा बन...

अशोक के राजा बनने की भविष्यवाणी पिंगलवत्स विद्वान ने की थी।

Read More...

अशोक को बौद्ध ध...

अशोक को बौद्ध धर्म में दीक्षित उपगुप्त ने किया था।

Read More...

अशोक को बौद्ध ध...

Read More...

अशोक चक्र किस च...

Read More...

अशोक चक्र धर्म...

अशोक चक्र धर्मचक्र का वर्णन करता है।

Read More...

अशोक चक्र में 24 ...

अशोक चक्र में 24 तीलियां होती हैं।

Read More...

अशोक चक्र में क...

Read More...

अशोक तथा उसके भ...

अशोक तथा उसके भाइयों के बीच उत्तराधिकार के लिए युद्ध 272-268 ईसा पूर्व मे हुआ था।

Read More...

अशोक तथा उसके भ...

Read More...

अशोक द्वारा नि...

Read More...

अशोक द्वारा नि...

अशोक द्वारा निर्माण कराये गये धर्मराजिका स्तूप सारनाथ (वाराणसी) में स्थित है।

Read More...

अशोक द्वारा नि...

Read More...

अशोक द्वारा नि...

अशोक द्वारा निर्माण कराये गये भरहुत का स्तंभ सतना (मध्यप्रदेश) में स्थित है।

Read More...

अशोक द्वारा नि...

Read More...

अशोक द्वारा नि...

अशोक द्वारा निर्माण कराये गये साँची का स्तूप विदिशा (मध्यप्रदेश) में स्थित है।

Read More...

अशोक ने अपनी प्...

Read More...

अशोक ने अपनी प्...

अशोक ने अपनी प्रजा के प‍थ-प्रदर्शन एवं उन्हे धार्मिक सिद्धांतों से परिचित कराने के लिए राज्यादेश चट्टानों, स्तंभों तथा गुफाओं पर खुदवाये थे।

Read More...

अशोक ने कलिंग व...

अशोक ने कलिंग विजय 261 ईसा पूर्व में प्राप्त की थी।

Read More...

अशोक ने कलिंग व...

Read More...

अशोक ने कश्मीर ...

Read More...

अशोक ने कश्मीर ...

अशोक ने कश्मीर में श्रीनगर बसाया था।

Read More...

अशोक ने चट्टान...

अशोक ने चट्टानों पर अभिलेख खुदवाने की प्रथा एकमेनिड शासकों से ली थी।

Read More...

अशोक ने चट्टान...

Read More...

अशोक ने नेपाल म...

Read More...

अशोक ने नेपाल म...

अशोक ने नेपाल में ललितपत्तन नगर को बसाया था।

Read More...

अशोक ने लुम्बि...

Read More...

अशोक ने लुम्बि...

अशोक ने लुम्बिनी को धार्मिक करों से मुक्त कर दिया था।

Read More...

अशोक ने स्वयं क...

Read More...

अशोक ने स्वयं क...

अशोक ने स्वयं को बुद्ध शाक्य मास्की के लघु शिलालेख में कहा है।

Read More...

अशोक बौद्ध धर्...

Read More...

अशोक बौद्ध धर्...

अशोक बौद्ध धर्म अपनाने से पहले शिव भगवान की पूजा करता था।

Read More...

अश्वघोष कनिष्क...

अश्वघोष कनिष्क शासक की राजसभा में थे।

Read More...

अश्वघोष किस शा...

Read More...

अश्वघोष की तीन ...

अश्वघोष की तीन प्रसिद्ध रचनायें हैं।

Read More...

अश्वघोष की प्र...

Read More...

अश्वघोष की प्र...

अश्वघोष की प्रसिद्ध तीन रचनाओं के नाम बुद्धचरित, सौन्दरानन्द एवं, सारिपुत्र प्रकरण है।

Read More...

अश्वघोष की प्र...

Read More...

अश्वघोष की रचन...

Read More...

अश्वघोष की रचन...

अश्वघोष की रचनाओं की पाण्डुलिपियां मध्य एशिया के तुरफान स्थान से मिली हैं।

Read More...

अश्वघोष द्वारा...

अश्वघोष द्वारा रचित बुद्धचरित तथा सौन्दरानन्द की रचना महाकाव्य है।

Read More...

अश्वघोष द्वारा...

Read More...

अश्वघोष द्वारा...

Read More...

अश्वघोष द्वारा...

अश्वघोष द्वारा रचित सारिपुत्र प्रकरण ग्रंथ नाटक है।

Read More...

अष्टाध्यायी मे...

अष्टाध्यायी में 8 अध्याय हैं।

Read More...

अष्टाध्यायी मे...

Read More...

अष्टाध्यायी मे...

अष्टाध्यायी में सूत्रों की 400 संख्या है।

Read More...

अष्टाध्यायी मे...

Read More...

अहम-ब्रह्मास्म...

Read More...

अहम-ब्रह्मास्म...

अहम-ब्रह्मास्मि, पुनर्जन्म सिद्धांत का वर्णन वृहदारण्यक में है।

Read More...

आग का आविष्कार ...

Read More...

आग का आविष्कार ...

आग का आविष्कार पुरा-पाषाणकाल में हुआ था।

Read More...

आजीवक बनने से प...

Read More...

आजीवक बनने से प...

आजीवक बनने से पूर्व बिन्दुसार ब्राह्मण धर्म को मानता था।

Read More...

आजीवक सम्प्रदा...

Read More...

आजीवक सम्प्रदा...

आजीवक सम्प्रदाय की स्थापना मक्खलि गोशाल ने की थी।

Read More...

आजीवक सम्प्रदा...

Read More...

आजीवक सम्प्रदा...

आजीवक सम्प्रदाय के संस्थापक मक्खलि घोषाल थे।

Read More...

आंध्र प्रदेश ए...

Read More...

आंध्र प्रदेश ए...

आंध्र प्रदेश एवं तोण्डैमण्डलम पर वप्पदेव पल्लव शासक ने शासन किया था।

Read More...

आनन्द’ महात्...

आनन्द' महात्मा बुद्ध के पाँच प्रिय शिष्यों में से एक थे।

Read More...

आनेसिक्रटस’ ...

आनेसिक्रटस' सिकन्दर के साथ आने वाले विश्वसनीय लेखकों में से एक था।

Read More...

आयुर्वेद उपवेद...

Read More...

आयुर्वेद उपवेद...

आयुर्वेद उपवेद के रचनाकार धन्वन्तरि हैं।

Read More...

आरंभिक वैदिक क...

Read More...

आरंभिक वैदिक क...

आरंभिक वैदिक काल में वर्ण व्यवस्था व्यवसाय पर आधारित थी।

Read More...

आर्य कितने प्र...

Read More...

आर्य किसे उदार ...

Read More...

आर्य किसे रूढ़...

Read More...

आर्य तीन प्रका...

आर्य तीन प्रकार के वस्त्रों का उपयोग करते थे।

Read More...

आर्य वशिष्ठ को ...

आर्य वशिष्ठ को रूढ़िवादी पुरोहित मानते थे।

Read More...

आर्य विश्वामित...

आर्य विश्वामित्र को उदार पुरोहित मानते थे।

Read More...

आर्य शब्द का अर...

Read More...

आर्य शब्द का अर...

आर्य शब्द का अर्थ श्रेष्ठ होता है।

Read More...

आर्य समाज का मु...

Read More...

आर्य समाज का मु...

आर्य समाज का मुख्य पेय पदार्थ सोमरस था।

Read More...

आर्य समाज की सब...

Read More...

आर्य समाज की सब...

आर्य समाज की सबसे छोटी इकाई को परिवार या कुल कहते थे।

Read More...

आर्य समाज के लो...

Read More...

आर्य समाज के लो...

आर्य समाज के लोग तांबे धातु को लोहित अयस् के नाम से जानते थे।

Read More...

आर्य समाज के लो...

आर्य समाज के लोग मनुष्य एवं देवता के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभानेवाले अग्नि देवता के रूप में पूजा करते थे।

Read More...

आर्य समाज के लो...

Read More...

आर्य समाज के लो...

Read More...

आर्य समाज के लो...

आर्य समाज के लोग लोहा धातु को श्याम अयस् के नाम से जानते थे।

Read More...

आर्य समाज में अ...

Read More...

आर्य समाज में अ...

आर्य समाज में अन्दर पहनने वाले कपड़े को नीवि कहा जाता था।

Read More...

आर्य समाज में क...

Read More...

आर्य समाज में ग...

आर्य समाज में गाय को अध्न्या कहा जाता था।

Read More...

आर्य समाज में ग...

Read More...

आर्य समाज में ज...

आर्य समाज में जीवन भर अविवाहित रहने वाली महिलाओं को अमाजू कहा जाता था।

Read More...

आर्य समाज में ज...

Read More...

आर्य समाज में प...

Read More...

आर्य समाज में प...

आर्य समाज में परिवार का मुखिया पिता होता था।

Read More...

आर्य समाज में प...

आर्य समाज में परिवार के मुखिया को कुलप कहा जाता था।

Read More...

आर्य समाज में प...

Read More...

आर्य समाज में ब...

आर्य समाज में बाल-विवाह एवं पर्दा-प्रथा का प्रचलन नहीं था।

Read More...

आर्य समाज में व...

आर्य समाज में विधवा अपने मृतक पति के छोटे भाई (देवर) से विवाह कर सकती थी।

Read More...

आर्य समाज में स...

Read More...

आर्य समाज में स...

आर्य समाज में स्त्रियां पति के साथ यज्ञ कार्य में भाग लेती थी।

Read More...

आर्य सर्वप्रथम...

Read More...

आर्य सर्वप्रथम...

आर्य सर्वप्रथम पंजाब एवं अफगानिस्तान में बसे थे।

Read More...

आर्यभट्टीयम के...

Read More...

आर्यभट्टीयम के...

आर्यभट्टीयम के रचयिता का नाम आर्यभट्ट है।

Read More...

आर्याें के उपय...

Read More...

आर्याें के उपय...

आर्याें के उपयोग किये जाने वाले मुख्यतः तीन प्रकार के वस्त्रों का नाम वास, अधिवास और उष्णीष था।

Read More...

आर्यों का पूर्...

आर्यों का पूर्वी गंगा मैदान में विस्तार 1000 ईसा पूर्व मे हुआ था।

Read More...

आर्यों का पूर्...

Read More...

आर्यों का पेय प...

Read More...

आर्यों का पेय प...

आर्यों का पेय पदार्थ सोमरस वनस्पति से बनाया जाता था।

Read More...

आर्यों का प्रा...

Read More...

आर्यों का प्रा...

आर्यों का प्रारम्भिक जीवन मुख्यतः पशुचारक एवं कृषि पर आधारित था।

Read More...

आर्यों का प्रि...

Read More...

आर्यों का प्रि...

आर्यों का प्रिय पशु घोड़ा था।

Read More...

आर्यों का मुख्...

Read More...

आर्यों का मुख्...

आर्यों का मुख्य व्यवसाय पशुपालन एवं कृषि था।

Read More...

आर्यों की भाषा ...

Read More...

आर्यों की भाषा ...

आर्यों की भाषा संस्कृत थी।

Read More...

आर्यों के मनोर...

Read More...

आर्यों के मनोर...

आर्यों के मनोरंजन के मुख्य साधन संगीत , रथदौड़ , घुड़दौड़ एवं द्यूतक्रीड़ा थे।

Read More...

आर्यों के सर्व...

आर्यों के सर्वाधिक प्रिय देवता इन्द्र थे।

Read More...

आर्यों के सर्व...

Read More...

आर्यों द्वारा ...

Read More...

आर्यों द्वारा ...

Read More...

आर्यों द्वारा ...

आर्यों द्वारा निर्मित सभ्यता का नाम वैदिक सभ्यता था।

Read More...

आर्यों द्वारा ...

Read More...

आर्यों द्वारा ...

आर्यों द्वारा राज्याधिकारियों में प्रमुख स्थान पुरोहित एवं सेनानी को प्राप्त था।

Read More...

आर्यों द्वारा ...

आर्यों द्वारा लोहा धातु को खोजा गया था।

Read More...

आर्यों द्वारा ...

Read More...

आर्यों द्वारा ...

आर्यों द्वारा विकसित सभ्यता का नाम ग्रामीण सभ्यता था।

Read More...

आलमगीरपुर किस ...

Read More...

आलमगीरपुर की व...

आलमगीरपुर की वर्तमान स्थिति उत्तर प्रदेश का मेरठ जिला है।

Read More...

आलमगीरपुर की व...

Read More...

आलमगीरपुर के उ...

Read More...

आलमगीरपुर के उ...

आलमगीरपुर के उत्खननकर्ता यज्ञदत्त शर्मा थे।

Read More...

आलमगीरपुर हिन्...

आलमगीरपुर हिन्डन नदी के तट पर स्थित था।

Read More...

आलारकलाम के बा...

Read More...

आलारकलाम के बा...

Read More...

आलारकलाम के बा...

आलारकलाम के बाद गौतम बुद्ध ने राजगीर से शिक्षा ग्रहण की थी।

Read More...

आलारकलाम के बा...

आलारकलाम के बाद गौतम बुद्ध ने रूद्रकरामपुत्त से शिक्षा ग्रहण की थी।

Read More...

आल्हा एवं ऊदल न...

Read More...

आल्हा एवं ऊदल न...

आल्हा एवं ऊदल नामक योद्धा चंदेल शासक परमार्दिदेव के दरबार में रहते थे।

Read More...

आश्रम व्यवस्था...

आश्रम व्यवस्था का सर्वप्रथम उल्लेख 'छान्दोग्य उपनिषद्' में मिलता है।

Read More...

आश्रम व्यवस्था...

Read More...

आस्टिोबुलस’ ...

आस्टिोबुलस' सिकन्दर के साथ आने वाले विश्वसनीय लेखकों में से एक था।

Read More...

इत्सिंग भारत क...

Read More...

इत्सिंग भारत म...

इत्सिंग भारत मे 7वीं शताब्दी के अन्त में आया था।

Read More...

इनामगांव किस य...

Read More...

इनामगांव ताम्र...

Read More...

इनामगांव ताम्र...

इनामगांव ताम्रपाषाण युग का संबंध जोर्वे संस्कृति से है।

Read More...

इनामगांव ताम्र...

इनामगांव ताम्रपाषाण युग की एक बड़ी बस्ती थी।

Read More...

इब्न बतूता अरब...

इब्न बतूता अरबी लेखक था।

Read More...

इब्न बतूता कौन ...

Read More...

इलाहाबाद (प्रय...

Read More...

इलाहाबाद (प्रय...

इलाहाबाद (प्रयागराज) में स्थित प्रयाग प्रशस्ति की रचना हरिषेण ने की थी।

Read More...

इस्लाम जगत में ...

इस्लाम जगत में खलीफा पद 1924 ईसवी तक था।

Read More...

इस्लाम जगत में ...

Read More...

इस्लाम जगत में ...

Read More...

इस्लाम जगत में ...

इस्लाम जगत में खलीफा पद तुर्की के शासक मुस्तफा कमालपाशा ने समाप्त कर दिया था।

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

इस्लाम धर्म के अंतिम पैगम्बर हजरत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) थे।

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

इस्लाम धर्म के पवित्र ग्रंथ का नाम कुरान है।

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

Read More...

इस्लाम धर्म के ...

इस्लाम धर्म के संस्थापक हजरत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) थे।

Read More...

इस्लाम धर्म मे...

Read More...

इस्लाम धर्म मे...

इस्लाम धर्म में हजरत अली की शिक्षाओं में विश्वास करने वाले को शिया कहते हैं।

Read More...

ईरान के शासक डे...

ईरान के शासक डेरियस प्रथम का भारत पर प्रथम विदेशी आक्रमण 516 ईसा पूर्व मे हुआ था।

Read More...

ईरान के शासक डे...

Read More...

ईरानी आक्रमण क...

Read More...

ईरानी आक्रमण क...

ईरानी आक्रमण के चलते पश्चिमोत्तर भारत में खरोष्ठी लिपि का प्रचार हुआ था।

Read More...

ईरानी आक्रमण स...

ईरानी आक्रमण से आरमेइक लिपि का प्रचार हुआ था।

Read More...

ईरानी आक्रमण स...

Read More...

ईरानी शासकों न...

Read More...

ईरानी शासकों न...

ईरानी शासकों ने सिन्ध तथा गांधार प्रदेशों पर अधिकार किया था।

Read More...

ईश्वर को प्राप...

Read More...

ईश्वर को प्राप...

ईश्वर को प्राप्त करने के लिए भक्ति को सर्वाधिक महत्व वैष्णव धर्म में दिया गया है।

Read More...

ईसा पूर्व द्वि...

Read More...

ईसा पूर्व द्वि...

ईसा पूर्व द्वितीय शताब्दी से लेकर पूर्व मध्यकाल तक स्मृति ग्रंथ की रचना की गयी थी।

Read More...

ईसा मसीह का जन्...

Read More...

ईसा मसीह का जन्...

ईसा मसीह का जन्म येरूशलम के निकट बैथलेहम नामक स्थान पर हुआ था।

Read More...

ईसा मसीह की मात...

Read More...

ईसा मसीह की मात...

ईसा मसीह की माता का नाम मरियम था।

Read More...

ईसा मसीह के जन्...

Read More...

ईसा मसीह के जन्...

ईसा मसीह के जन्म दिवस को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है।

Read More...

ईसा मसीह के पित...

Read More...

ईसा मसीह के पित...

ईसा मसीह के पिता का नाम जोसेफ था।

Read More...

ईसा मसीह के प्र...

ईसा मसीह के प्रथम दो शिष्यों का नाम एंड्रूस एवं पीटर था।

Read More...

ईसा मसीह के प्र...

Read More...

ईसा मसीह को सूल...

ईसा मसीह को सूली पर 'पोंटियस रोमन गवर्नर' ने चढ़वाया था।

Read More...

ईसा मसीह को सूल...

ईसा मसीह को सूली पर 33 ईसवी को चढ़ाया गया था।

Read More...

ईसा मसीह को सूल...

Read More...

ईसा मसीह को सूल...

Read More...

ईसा मसीह ने अपन...

Read More...

ईसा मसीह ने अपन...

Read More...

ईसाई धर्म का सब...

Read More...

ईसाई धर्म का सब...

ईसाई धर्म का सबसे पवित्र चिन्ह क्रॉस है।

Read More...

ईसाई धर्म के प्...

Read More...

ईसाई धर्म के प्...

ईसाई धर्म के प्रमुख ग्रंथ का नाम बाइबिल है।

Read More...

ईसाई धर्म के सं...

ईसाई धर्म के संस्थापक ईसा मसीह थे।

Read More...

ईसाई धर्म के सं...

Read More...

ईसाई धर्म प्रच...

Read More...

Category

Tags